नगर पालिका का बजट-2017-18 -अरशद जमाल


नगर पालिका का बजट-2017-18 हंगामों के बीच हुआ पेश
सईदी रोड चैड़ीकरण को लेकर एक घण्टे से अधिक सदन की कार्यवाही रही बाधित, अधिकारियों को कड़े निर्देश
बजट में पालिका कार्याें के संचालन हेतु ठेका, निर्माण, पेय जल, सफाई एवं प्रकाश व्यवस्था पर केन्द्रित रहा ध्यान
नगर के विकास व समाज के सृजन में निभानी है अमह भूमिका, राजनैतिक दायित्वों का भी करना है निर्वहन-अरशद जमाल
मऊनाथ भंजन। आज नगर पालिका परिषद के बैठक कक्ष में बजट 2017-18 के सम्बन्ध में बोर्ड की एक विशेष बैठक हुयी। इस बैठक की अध्यक्षता नगर पालिका परिषद की चेयरपर्सन श्रीमती शाहीना अरशद जमाल ने की। आज की इस बैठक में पालिकाध्यक्ष शाहीना अरशद जमाल ने बोर्ड के समक्ष बजट 2017-18 प्रस्तुत किया। इस बजट में निर्माण, सफाई, पथ-प्रकाश और पेयजल की व्यवस्था में सुधार पर बल दिया गया। नगर में हो रहे विकास कार्याें व पिछली बैठक की कार्यवाही की समीक्षा भी की गयी। इसी के साथ विकास सम्बन्धी नये विकास कार्य के विकल्पों पर भी चर्चा हुयी। विकास की गति को तीव्रता प्रदान करने के उद्देश्य से लगभग 20 अहम मुद्दों पर विचार विमर्श किया गया, जिन्हें हंगामों के बीच सभासदों ने पास कर दिया। आज की बैठक में जैसे ही सदन में सईदी रोड के चैड़ीकरण हेतु रेलवे बोर्ड को धन मुहैया कराने की बात आयी अधिकतर सभासदों को आक्रेश आ गया। उन्होंने इस सम्बन्ध में अधिशासी अधिकारी को इस अत्यन्त गम्भीर एवं आवश्यक मुद्दे पर लापरवाही बरतने पर घेरा तथा वे सईदी रोड के चैड़ीकरण हेतु रेलवे बोर्ड को भेजी जाने वाली 1 करोड़ 24 लाख रूपये की धनराशि रेलवे बोर्ड को अब तक न भेजे जाने पर आक्रेशित हो उठे और एक स्वर में सदन की कार्यवाही को आगे न बढ़ाने पर डटे रहे। बहुत समझाने एवं इस मूद्दे पर आगामी 1 अप्रैल को विशेष बैठक बुलाकर विस्तृत चर्चा कराने के आश्वासन पर ही वे सदन की कार्यवाही को आगे बढ़ाने पर राजी हुये तथा आय व्यय बजट 2017-18 पर चर्चा करते हुये नगर के भौतिक विकास से सम्बन्धित रास्ता निर्माण, नाली, सोलिंग, इण्टरलाकिंग, बाउण्ड्रीवाल, पथप्रकाश, जल निकासी एवं पेयजल आपूर्ति जैसे विकास सम्बन्धी प्रस्तावों को पास कर दिया। जिसे बोर्ड की इस बैठक में पालिका अध्यक्ष की जानिब से प्रस्तावित किया गया था।
64 करोड़ 96 लाख 1 हजार रूपये का यह बजट नगर के विकास के लिये बहुत महत्वपूर्ण है। इस बजट में 33 करोड़ 50 लाख रूपये निर्माण एवं विकास कार्याें पर खर्च होंगे। जबकि बजट की शेष धनराशि को कर्मचारियों के वेतन, सफाई, पेयजलापूर्ति एवं प्रकाश व्यवस्था पर खर्च किया जायेगा, जिसमें विद्युत विभाग को दी जाने वाली एक वर्ष की भुगतान की धनराशि 1 करोड़ 25 लाख रूपया भी शामिल है। बजट में सलाटर हाउस से होने वाली आय को शून्य दिखाया गया है। गृह कर से 75 लाख एवं जल कर से 80 लाख तथा पार्किंग सटैण्ड से 65 लाख रूपये की आय होने की सम्भावना दिखाई गयी है, जबकि शेष धन की कमी की पूर्ति राज्य एवं केन्द्र सरकार से प्राप्त अनुदान से की जायेगी। 8 लाख 52 हजार रूपये के नफे वाले इस बजट से एक साल के अन्दर नगर में कई योजनायें आरम्भ होंगी।
पालिका अध्यक्ष शाहीना अरशद जमाल ने बोर्ड द्वारा पारित प्रस्तावों को नगर के विकास का अहम हिस्सा बताते हुये सम्बन्धितों को कड़े स्वर में निर्देशित किया कि वे नगर के सभी क्षेत्रों में होने वाले निर्माण एवं विकास कार्याें को योजनाबद्ध तरीके से समय सीमा के अन्दर पूरा करें।


इस बैठक में पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि अरशद जमाल ने बताया कि आय व्यय बजट 2017-18 हेतु प्रमुख प्रस्तावों में विज्ञापन शुल्क की वसूली, ब्रम्हस्थान टैक्सी स्टैण्ड की नीलामी, नलकूपों के संचालन तथा पाइप-लाइन लीकेज की मरम्मत, स्ट्रीट लाइट व्यवस्था को चलाने, पालिका के कम्प्यूटरों का संचालन, नगर क्षेत्र में निकलने वाले कूड़ों को उठाने हेतु लोडर एवं डम्पर के संचालन, बाहरी वार्डाें एवं शहरी गरीब आवासों (नया सवेरा) में सफाई व्यवस्था, पालिका की भूमि के सीमांकन व चिन्हिकरण कार्याें, दोहरी लेखा प्रणाली पर आधारित लेखों के रखरखाव हेतु चार्टर्ड एकाउन्टेंट की सेवायें लेने, कर विभाग में सर्वेक्षण एवं वसूली आदि कार्याें को पूर्व की भाँति ठीके पर दिये जाने जैसे अहम प्रस्ताव शामिल रहे। इनके इलावा विशेष रूप से सईदी रोड चैड़ीकरण हेतु रेलवे बोर्ड को धन मुहैया करोने, टैक्स लगाने, संगत घाट बन्धा रोड, फातिमा रोड, डा0 एस0एन0 खत्री रोड के निर्माण में तेजी लाने, सभी वार्डाें में वाटर कूलर लगाने, नये अधिष्ठापित नलकूपों को जल्द चालू करने, संगत घाट के पास नये जुड़े हुये बन्धे की सड़क बनाने, मड़ईया घाट के सुन्दरी करण, हट्ठीमदारी में ढ़ेकुलिया घाट पर शमशान घाट का निर्माण कराने, श्याम मार्केंट में बाजार स्वामी द्वारा जमीन उपलब्ध कराने के उपरान्त सुलभ शौचालय बनाने, जैसे अहम प्रस्ताव पारित किये गये। 


     इस बैठक में बोर्ड ने श्री आदित्य नाथ योगी को काफी समय बाद पूर्वांचल क्षेत्र से उ0प्र0 का मुख्यमंत्री बनाये जाने पर खुशी का इजहार किया। श्री जमाल ने कहा कि श्री योगी गोरखपुर के हैं इस लिये इनके मुख्यमंत्री बनने से निश्चित रूप से पूर्वांचल का विकास होगा। गोश्तबन्दी से आयी समस्या के सम्बन्ध में बोर्ड ने उ0प्र0 सरकार से अनुरोध किया है कि जल्द से जल्द इसका निदान किया जाये। श्री जमाल ने प्रधानमंत्री द्वारा चलाये जा रहे स्वच्छ भारत मिशन को आगे बढ़ाने हेतु प्रेरणा देते हुये शासन द्वारा निर्दिष्ट शपथ-पत्र पढ़कर लोगों को स्वच्छता की शपथ भी दिलायी। उन्होंने कहा कि हमारे नगर को सफाई के लिये पूरे प्रदेश में खास स्थान प्राप्त है। इसके लिये उन्होंने पालिका कर्मियों के प्रयासों की भूरि-भूरि प्रशंसा भी की। श्री जमाल ने कहा कि सभी नागरिकों को सफाई हेतु अपने स्तर से प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि इस्लाम ने तो सफाई को आधा ईमान बताया है।
बोर्ड ने दिवंगत पूर्व सभासदों अबुल हसन, हाफिज नेयाज, जुलेखा खातून, मजहर, जफर अहमद, मुंशी एहसान, सीता यादव व खेदन यादव के निधन पर शोक व्यक्त किया तथा 2 मिनट का मौन धारण कर उनकी आत्मा की शान्ति हेतु प्रार्थना की।
श्री जमाल ने कहा कि नगर की अवाम को हमसे जो उम्मीदें हैं हमें उन पर पूरा उतरना है और अपने हिस्से की जिम्मेदारी भी हमें स्वयं निभानी है। इसी के साथ हमें समाज के सृजन में अपने राजनैतिक दायित्वों का भी निर्वहन करना है। उन्होंने सभासदों को सम्बोधित करते हुये कहा कि अवाम ने ये जिम्मेदारी हमें इस लिये दी है कि हम राह की रुकावटों को दूर कर नगर के विकास में अहम भूमिका निभायें। 
बैठक की अध्यक्षता पालिका अध्यक्ष श्रीमती शाहीना अरशद जमाल ने की तथा संचालन वार्ड 22 के सभासद अरशद जमाल ने किया। बैठक में सम्मानित सभासदगण, अधिशासी अधिकारी-विद्यासागर यादव, कर अधीक्षक-गुफरानुल हई, जलकल अभियन्ता-बब्बन प्रसाद, सफाई निरीक्षक-नरेश कुमार व राजेश कुमार झा, आदर्श त्रिपाठी, निर्माण लिपिक-धर्मेंन्द्र कुमार पाण्डेय, प्रकाश लिपिक-चन्द्रिका प्रसाद, जलकल लिपिक-कमलेश पाण्डेय आदि उपस्थित रहे।