नगर पालिका में सोशल मोबिलाइजेशन नेटवर्क व कोर ग्रुप पोलियो प्रोजेक्ट की बैठक-अरशद जमाल


नगर पालिका में सोशल मोबिलाइजेशन नेटवर्क व कोर ग्रुप पोलियो प्रोजेक्ट की बैठक
क्या किसी राष्ट्र को उसके बीमार, दुर्बल एवं अपाहिज नागरिक चला सकते हैं
समाज को बीमारी से बचाने के लिये सभी को करना चाहिये संयुक्त प्रयास-अरशद जमाल

मऊनाथ भंजन। नगर पालिका परिषद के मीटिंग हाल में आज सोशल मोबिलाइजेशन नेटवर्क कोर ग्रुप पोलियो प्रोजेक्ट की जानिब से एक बैठक आयोजित की गयी, जिस में पोलियो जैसी बीमारी से बचाव हेतु सहयोग प्रदान करने के क्रम में नगर के कई सम्भ्रांत नागरिकों एवं समाज सेवियों को पोलियो उनमूलन अभियान में उत्कृष्ट भूमिका निभाने हेतु बुकलेट फोल्डर एवं प्रशस्ती पत्र देकर प्रोत्साहित किया गया।


इस सम्मान समारोह में पोलियो जैसी घातक 7 अन्य जानलेवा मीमारियों के बारे में बताते हुये भवानी शंकर, शमशेर अली व मुहम्मद आरिफ ने बताया कि इनमें मुख्य रूप से टी0वी0, काली खांसी, गलाघोंट, टेटनेस, पीलिया, पोलियो, खसरा, दिमागी बुखार शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हमने 2014 में पोलियो पर अल्लाह की मेहरबानी से सफलता पायी है। हमारे अंथक प्रयास तथा समाज के सभी वर्गाें, धर्माें के धर्मगुरुओं, समाजसेवी संस्थाओं एवं पोलियोग्रस्त परिवार के सामूहिक सहयोग से यह सफलता प्राप्त हुयी है। उन्होंने बताया कि आज उन्हीं लोगों को जिन्होंनेे सरकार के इस अभियान में हमारा साथ दिया है प्रोत्साहन करने हेतु इस जिला लेवेल इण्टरफेस मीटिंग का आयोजन किया गया है। उन्होंने उक्त सभी बीमारियों से पोर्वाेपाय हेतु कदम उठाने के क्रम में सभी बच्चों को उम्र के हिसाब से नियमित रूप से सम्बिन्धित टीका लगवाने की सलाह दी ताकि इन बीमारियों के प्रकोप से नन्हे नागरिकों को बचाया जा सके।
सी.एम.ओ. डा0 आर0के0 मिश्रा ने अपने वक्तब्य में कहा कि आज हम इस अवसर पर जिन लोगों को बधाई दे रहे हैं वे वास्तव में इनके पात्र हैं। क्यों कि इन लोगों ने उन अपनढ़ एवं समाज के मुख्य धारा से कटे लोगों को भी पोलियो से सम्बन्धित फैली भ्रान्ति एवं विनाश के बारे में बताया बावजूद इसके कि इन्हें समझा पाना आसान नहीं था। उन्होंने ओलेमा इकराम का शुक्रिया अदा करते हुये कहा कि चुनौतियों के बावजूद ओलेमा ने भी इस अभियान में हमारा साथ दिया है।




पूर्व पालिका अध्यक्ष अरशद जमराल ने कहा कि यहाँ की अवाम को पोलियो से मुतअल्लिक अफवाह से बाहर निकालना हम लोगों के लिये एक चैलेन्ज था क्यों कि इन्हें ये समझा पाना बड़ा मुश्किल था कि पोलियो की बूँद पिलाते ही आपका बच्चा नपुंसक नहीं बन जाता, बल्कि इसकी एक बूँद आपके बच्चे को अपाहिज होने से बचाने में मुआविन है। इस तरह के प्रश्नों का उत्तर देकर उन्हें संतुष्ट कर पाना एक मुश्किल काम था पर जब उलेमा-ए-कराम ने मस्जिदों एवं आम जल्सों से पोलियो ड्राप पिलाने की अपील की तभी यह सम्भव हो पाया है। उन्हों ने बताया कि 1995 तक पूरे संसार के आधे पोलियो के मरीज भारत में थे। 2006 से मऊ जिले में पोलियो का कोई मरीज नहीं पाया गया। यह स्वास्थ्य विभाग, जन प्रतिनिधियों, विश्व स्वास्थ्य संगठनों, धर्म गुरूओं के संयुक्त प्रयास से सम्भव हो पाया है। श्री जमाल ने कहा कि इस अभियान में महिलाओं की भागीदारी भी सुनिश्चित की जानी चाहिये, क्यों कि इस क्षेत्र में उनका बहुत बड़ा योगदान अपेक्षित है। उन्होंने कहा किघर में दाई से डिलेवरी नहीं कराई जानी चाहिये। इस अभियान के तहत सफाई का भी ध्यान रखा जाना चाहिये। श्री जमाल ने प्रश्न की मुद्रा में कहा कि क्या किसी राष्ट्र को उसके बीमार, दुर्बल एवं अपाहिज नागरिक चला सकते हैं, ये सम्भव नहीं है। यह सोचने की बात है कि जिस देश के लोग स्वस्थ्य नहीं उस देश के भविष्य का क्या हो सकता है। इस लिये इस बीमारी से मुक्ति दिलाने के प्रयास में जिन लोगों ने स्वास्थ्य विभाग एवं एन.जी.ओ. का साथ दिया वे निसंदेह बधाई के पात्र हैं। अल्लाह ने भी हमें पोर्वाेपाय करने को कहा है, इस लिये हमें पूरे समाज को इन घातक बीमारियों से बचाने हेतु अपने बच्चों का टीकाकरण जरूर करा लेना चाहिये। इससे उनका भविष्य सुरक्षित होगा। 



इस समारोह में श्री शमशेर ने प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से चर्चा की और मुख्य रूप से जिन लोगों ने अपने विचार व्यक्त किये उन में मौलाना इफ्तेखर अहमद, मौलाना रफीक अहमद, ए.सी.एम.ओ. डा0 पी0के राय आदि शामिल हैं।
इस सम्मान समारोह में पोलियो उनमूलन अभियान के जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं सोशल मोबिलाइजेशन नेटवर्क एवं कोरग्रुप पोलियो प्रोजेक्ट के अधिकारीगण व उनके सहयोगी आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता पूर्व पालिका अध्यक्ष अरशद जमाल ने की तथा संचालन मुहम्मद आरिफ ने किया।