4 अगस्त से समाप्त हो जायेगा बोर्ड का कार्यकाल लेकिन निगरानी रहेगी कायम -Arshad Jamal Chairman


4 अगस्त से समाप्त हो जायेगा बोर्ड का कार्यकाल, पर बोर्ड की लेकिन निगरानी रहेगी कायम व पूर्ववत होती रहेंगी बोर्ड की बैठकें

मऊनाथ भंजन। नगरपालिका परिषद, मऊ बोर्ड की अवधि 4 अगस्त को समाप्त हो जायेगी। पालिकाध्यक्ष के सभी प्रशाशनिक अधिकार अधिशासी अधिकारी और लेखाकार में निहित हो जायेंगे। बाजूद इसके बोर्ड की बैठक पूर्वत होती रहेगी। बोर्ड द्वारा लिया गया निर्णय अधिशासी अधिकारी को निर्देश नहीं अपितु सुझाव माना जाएगा। कार्यो की आवश्यकता एवं गुणवत्ता भी पहले की तरह बोर्ड द्वारा चेक की जाती रहेगी।



शासनादेश की कॉपी डाउनलोड करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें 

अपरिहार्य परिस्थितियों के चलते चुनाव न होने की स्थिति में उच्च न्यायालय लखनऊ बेंच लखनऊ द्वारा रिट याचिका सं0 11226/2011 संदीप उर्फ संदीप महरोत्रा व अन्य बनाम उ0प्र0 राज्य व अन्य तथा अन्य सम्बद्ध रिट याचिकाओं में पारित आदेश दिनांक 05.12.2011 के अनुपालन में श्री कुमार कमलेश प्रमुख सचिव उ0प्र0 शासन के पत्र सं0-3420/9-1-2017-119रिट/2011 के माध्यम से दी गयी जानकारी के मुताबिक नये निकायों के गठन तक नियमानुसार अन्तरिम व्यवस्था के रूप में वर्तमान बोर्ड को कार्य करते रहने का निर्णय लिये जाने की जानकारी दी गयी है। यह जानकारी देते हुये उ0प्र0 प्रमुख सचिव कुमार कमलेश ने शासनादेश के माध्यम से बताया है कि उन्हें नगर पालिका परिषदों एवं नगर पंचायतों को अवगत कराने का निर्देश दिया गया है कि निकायों की कार्यावधि की गणना उनके गठन के पशचात शपथ ग्रहण की तिथि के उपरान्त पहली बैठक से की जायेगी। निकायों की कार्यावधि के उपरान्त नगर आयुक्तों, नगर निगम/अधिशासी अधिकारियों, नगर पालिका परिषद/नगर पंचायतों को निकायों के कार्य संचालन का दायित्व सौप दिया जायेगा। इसी के साथ निकाय बोर्ड बहुमत के द्वारा नागरिकों को दी जाने वाली सुविधाओं का पर्यवेक्षण भी करता रहेगा तथा अधिशासी अधिकारी को जनहित में परामर्श देता रहेगा। कुल मिलाकर बोर्ड चुनाव तक नगर की मूलभूत आवश्यकताओ की पूर्ति की निगरानी पहले की तरह करता रहेगा।
इस आदेश पर नगर पालिका अध्यक्ष शाहीना अरशद जमाल ने सरकार का शुक्रिया अदा करते हुये जल्द से जल्द चुनाव कराने का अनुरोध किया है।