विशाल सामूहिक धरना -अरशद जमाल


14 जुलाई, दोपहर 2 बजे। सांप्रदायिकता, नफरत की राजनीति, भीड़तंत्र के ख़िलाफ एक विशाल सामुहिक प्रदेर्शन जिसमें सभी धर्मों के लोग शामिल होंगे। भाईचारे का एक संदेश मऊ की अवाम की तरफ से। इंसाफ और हक़ के लिये उठती आवाज़ का हिस्सा बनें। मऊ की सरज़मीन पर हो रहे Mob Lynching के विरुद्ध देश भर में हो रहे किसी भी शहर से ज़्यादा तादाद वाले इस प्रदर्शन से जुड़ें।