अदबी मुशायरा एक शाम अचानक के नाम का खुबसूरत मंज़र

लोगों ने अदबी मुशायरे को पसंद किया आने वाले दिनों में हम इससे भी अच्छा मुशायरा कराने का प्रयत्न करेंगे -अरशद जमाल

मा० अखिलेश यादव ने लखनऊ में कराई अफ्तार पार्टी

मा० अखिलेश यादव ने लखनऊ में अफ्तार पार्टी दी जिसमे २०००० से अधिक लोगों ने शिरकत की

मौलाना आज़ाद मेमोरियल एकेडमी

मौलाना आज़ाद मेमोरियल एकेडमी की वेबसाइट के शुबारंभ पर मा०अखिलेश जी के इस उठाये गये कदम की सराहना करते हुवे अरशद जमाल

एक शाम अचानक के नाम

अदबी मुशायरा एक शाम अचानक के नाम -मुख्यअतिथि रहे शकील आज़मी जिनकी शान में बस यही किह देना काफी होगा की परों को खोल ज़माना उड़ान देखता है .. तू क्या ज़मीन पे बैठ कर आसमान देखता है ....!!

माइनॉरिटी स्टूडेंट फोरम मऊ

माइनॉरिटी स्टूडेंट फोरम मऊ के डायरेक्टर अरशद जमाल ने मऊ के होनहार बच्चों को सम्मानित किया

लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में समाजवादी पार्टी द्वारा आयोजित 8वां राज्य सम्मलेन-अरशद जमाल


लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में समाजवादी पार्टी द्वारा आयोजित 8वां राज्य सम्मलेन-अरशद जमाल 

लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में समाजवादी पार्टी द्वारा 8वां राज्य सम्मलेन आयोजित किया गया। 8वें राज्य सम्मलेन को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र की मोदी सरकार और सूबे की योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा की कि बीजेपी ने धोखा देकर वोट लिया है जनता इसे  कभी भी माफ़ नहीं करेगी और आगामी होने वाले चुनाव में जनता द्वारा लिए जाने वाले निर्णय बीजेपी के हित में नहीं होगा तथा दूसरी सरकार के भी 6 महीने पूरे हो गए, जिन्हें बहुत वोट मिला उनके बारे में जनता मंथन कर रही है कि हमने किसे से कुर्सी पर बैठा दिया।

अपने सम्बोधन को जारी रखते हुवे अखिलेश जी ने कहा की  जो श्वेत पत्र जारी किया वो सफेद झूठ का पुलिंदा है। हमने अभी तो दिल्ली वाली सरकार का आंकलन किया ही नहीं. हमने उनसे भी ज्यादा काम किया है.”




हम एक्सप्रेस वे को मऊ होते हुए बलिया तक लाना चाहते थे, हमारी सरकार बनी होती तो पहले ही दिन उस पर काम शुरू होता। बीजेपी वाले वो सड़क नहीं बना सकते। पीएम वो सड़क नहीं बना सकते। दुनिया में तरक्की के लिए बेहतर सड़क जरूरी है. हमारे किसानों और व्यापारियों को इससे लाभ मिलता.”
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, “किसानों के कर्ज माफ करने का वादा करने वालों ने पहली कैबिनेट में ही धोखा दिया. पहले तो किसानों को अलग कर दिया फिर मामूली पैसे देकर सर्टिफिकेट बांट दिए.”
उन्होंने ये भी कहा की मौजूदा सरकार  बिजली की सुविधा नहीं दे पा रहे. 102, 108 एंबुलेंस को ठप कर दिया. गांव के लोगों का थाने से उत्पीड़न ना हो इसलिए हम 100 नंबर लाए थे।


मुख्यमंत्री मानते हैं कि 100 नंबर में भ्रष्टाचार है. इसकी जिम्मेदारी भी तो उनकी है. हमसे सीख कर बीजेपी के प्रदेशों में ही 100 नंबर शुरू करने जा रही है.”
उन्होंने कहा, “इन लोगों ने बहकाकर धोखा देकर वोट लिया था. पीएम ने कहा था कि नोटबंदी से आतंकवाद और भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी.”

अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश की राजनीति में बड़ी हैसियत है. हमने कई बार कहा कि शिक्षा के आंकड़े बेहतर करने हैं तो यूपी के हाल सबसे पहले बेहतर करने होंगे। स्वास्थ्य में देश को आगे बढ़ाना है तो यूपी के लोगों का स्वास्थय बेहतर होना चाहिए, यूपी की ही जनता देश की राजनीति में बदलाव ला सकती है।

सपा के राष्ट्रिय अध्यक्ष ने रोहंगिया बर्मा के मुसलमानों पर होरहे अत्त्याचार पर भी अपने विचार रखते हुए कहा कि मनोवता की रक्षा करना हमारा धर्म है।


अरशद जमाल (लखनऊ सम्मेलन से)

AU संगम मऊ द्वारा आयोजित ''एक शाम तालिब-ए इल्मो के नाम'' का भव्य आयोजन - Arshad Jamal Chairman



AU संगम मऊ द्वारा आयोजि ''एक शाम तालिब-ए इल्मो के नाम'' का भव्य आयोजन 

मऊ नाथ भंजन- AU संगम मऊ द्वारा आयोजि ''एक शाम तालिब-ए इल्मो के नाम'' का भव्य आयोजन दिनांक 17 सितम्बर 2017  रविवार की शाम होटल कोहिनूर में किया गया। जिसमे मऊ नगर के तमाम स्टूडेंट्स मौजूद रहे।  


मुख्य अतिथि के रूप में श्री सुनील कुमार सिंह IPS पुलिस अधीक्षक इलाहाबाद व इस आयोजन की अध्यक्षता प्रोफेसर सरफ़राज़ अहमद साहब ने की. वक्ता के रूप में श्री उज़ैर गिरहस्त साहब, मोहम्मद राशिद (छात्र),  डॉक्टर नफीस अब्दुल हाकिम, राशेदा खातून (छात्रा) ने अपने विचार व्यक्त किये ।



मऊ नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन श्री अरशद जमाल ने अपने मंतव्य में कहा की हमारे शहर के बच्चे अच्छी तादाद में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में ज़ेरे तालीम हैं इनकी छोटी बड़ी समस्याओं का निवारण करना तथा इनकी आवश्यकताओं की पूर्ति  के लिए इनके हित में हम सब को मिल कर कार्य करना होगा ताकि ये अपने लक्ष्य को सुगमतापूर्वक प्राप्त कर सकें जिससे हमारा शहर मऊ का नाम रोशन हो।  इस भव्य खूबसूरत और यादगार आयोजन के संचालन जकी महफूज़ एडवोकेट साहब ने की। 

अगर समय से बिजली आपूर्ति बेहतर न हुयी तो होगा आन्दोलन-अरशद जमाल


बिजली कटौती को लेकर समजवादी पार्टी ने नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा ज्ञापन 
अगर समय से बिजली आपूर्ति बेहतर न हुयी तो होगा आन्दोलन-अरशद जमाल

मऊनाथ भंजन। मऊ एक बुनकर बाहुल्य क्षेत्र है। यहां की अधिकतर आबादी बुनाई के पेशे से सम्बद्ध है। ताने बाने की इस नगरी में कई सप्ताह से विद्युत आपूर्ति की दयनीय स्थिति के चलते नगर के बुनकरों की रोजी-रोटी ठप सी है। आगे मुहर्रम और दशहरे का पर्व भी आयोजित होना है। ऐसी थिति में आज समाजवादी पार्टी के वरिष्ट नेता व नगर पालिका परिषद के पूर्व चेयरमैन अरशद जमाल के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमण्डल ने नगर मजिस्ट्रेट से मुलाकात कर उन्हें बिजली की आपूर्ति अविलम्ब बेहतर बनाने हेतु ज्ञापन दिया। ज्ञाप में कहा गया है कि वर्तमान हालात ऐसे हैं कि मात्र 7-8 घण्टे ही बिजली मिल पा रही है वह भी इतना कम वोल्टेज होता है कि पावरलूम चलाना सम्भव नहीं हो पाता है।


मांग पत्र में कहा गया है कि खराब विद्युत आपूर्ति से बुनकरों के सामने रोजी रोटी का भयंकर संकट खड़ा हो गया है। प्रतिनिधिमण्डल ने नगर मजिस्ट्रेट और अधिशासी अभियन्ता विद्युत वितरण खण्ड को दिये गये पत्रक में स्पष्ट रूप से बताया है कि अगर फौरी तौर पर बिजली आपूर्ति में सुधार नहीं किया गया तो किसी भी समय जनता सड़कों पर उतर कर धरना, प्रदर्शन एवं आन्दोलन कर सकती है। पत्रक देने के बाद समाजवादी पार्टी के नेताओं ने प्रेस नोट में बताया है कि समाजवादी पार्टी की सरकार में जहां 24 घण्टे बिजली मिला करती थी वहां 8 घण्टे मिलना भी मुश्किल हो गया है जो सरकार की नाकामियों को दर्शाता है। सरकार को यह समझना होगा कि जनता अगर कुर्सी पर बिठा सकती है तो कुर्सी से हटा भी सकती है।


प्रतिनिधिमण्डल में सदर विधान सभा अध्यक्ष बब्लू यादव, नगर पालिका के सभासदगण जावेद अख्तर, इस्माईल, अताउल्लाह, इकबाल अहमद, जावेद अख्तर, अहमद सोहैब अर्सलान (ऐमन), इर्फान अहमद, तारिक, मोबीन, इजहार अहमद, अफजाल अहमद, शमशाद अहमद आदि शामिल रहे।

बर्मा में रोहनिया मुसलमानों पर वहां की सेना द्वारा किये जरहे ज़ुल्म के खिलाफ जमीयतुल उलमा का इजलासे आम- Arshad Jamal



बर्मा में रोहनिया मुसलमानों पर वहां की सेना द्वारा किये जरहे ज़ुल्म के खिलाफ जमीयतुल उलमा का इजलासे आम


मऊनाथ भंजन- बर्मा में रोहनिया मुसलमानों पर वहां की सेना द्वारा किये जरहे ज़ुल्म के खिलाफ जमीयतुल उलमा का एक अहतेजाजी इजलासे आम किया गया।  ज्ञात हो कि उन महाजरीन की कुल 13 लाख की आबादी में लगभग एक लाख हिन्दू भी है। उनके साथ भी वैसा ही सलूक किया जारहा है, क्यों के अंग्रेज़ो की होकूमत में नोकरी के नाम पर सबको हिंदुस्तान से सैकड़ो साल पहले भेजा गया था। आज तक उनको वहां की नागरिकता नही दी गई इन मज़लूमों को अलगाव वादी कहकर नसलकुशी की जारही है।




भले ही उस वक्त भारत एक था आज पाकिस्तान बंगलादेश को लेकर 3 हिस्सो में हो गया है, भारत सबसे बड़ा है इसलिये इनको चाहिये कि इस मामले मे मदाखलत करे। बौद्ध धर्म बहुल देश म्यांमार में अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुसलमानों की अनुमानित संख्या 13 लाख है और वे ज्यादातर देश के तटीय राज्य रखीने के उत्तरी हिस्से में रहते हैं जिसकी सीमा बांग्लादेश से लगती है। म्यांमार सरकार उन्हें बांग्लादेश के ‘अवैध प्रवासी‘ मानती है और वे नागरिकता के अधिकारों से वंचित हैं। सदियों से वहॉं रहने के बावजूद म्यांमार सरकार ने उन लाखों लोगों को नागरिकता के अधिकार से वंचित रखा है, ये बिना किसी नागरिकता के रोहिंग्यन मुसलमान दुनिया के सबसे मज़लूम अल्पसंख्यक हैं। बोद्ध आतंकवादियों और वहॉं की सेना कभी इनके घर जलाती है, कभी गोलियों से भून देती है, कभी माओं और बहनों की इज़्ज़त लूटती है, ये लोग किसी तरह बच के समुंदरी रास्ते से दूसरे देशों में भाग कर शरणार्थी बनते हैं, भागने की कोशिश में कई मारे जाते हैं, कईयों की नावें समुंदरों में समा जाती हैं।
म्यांमार की नेता आंग सांग सू की को नोबेल का पीस प्राइज़ मिला है। लेकिन वो इस ज़ुल्म को रोकने की बजाये रोहिंग्या के लोगों को आतंकवादी बता कर उन पर ज़ुल्म को बढ़ावा दे रही हैं। दुनिया के तमाम अमनपसंद आंग साम सू की के खिलाफ मुज़ाहिरा कर रहे हैं। रोहिंग्या के शरणार्थी भारत में भी है जिनको भारत ने वापस उसी नरक में भेजने का ऐलान किया था तो UN की तरफ से भारत के इस ऐलान की कड़ी निंदा की गयी थी। हमारे देश के प्रधानमंत्री मोदी जी अभी कुछ दिन पहले ही म्यांमार दौरे पर थे लेकिन अफसोस की बात है कि दशिण एशिया के एक मज़बूत देश के लीडर होने के बाद भी उन्होंने रोहिंग्या संकट पर कोई बात नहीं की, न ही रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे ज़ुल्म, उनके नरसंहार पर कोई आधिकारिक बयान जारी कर म्यांमार सरकार पर हिंसा रोकने का कोई दबाव बनाया है।



बर्मा के बगल में इंडोनेशिया, मलेशिया, बंगलादेश मुस्लिम मुमालिक है। पाकिस्तान की ख़ामुशी भी मानीख़ेज़ है।


अरशद जमाल, पूर्व चेयरमैन

फेसबुक और व्हाट्सएप्प प्रयोग करने वाले युवा रहें सचेत-Arshad Jamal Chairman



''फेसबुक और व्हाट्सएप्प प्रयोग करने वाले युवा रहें सचेत''
दशहरा, दुर्गापूजा और मोहर्रम के पर्व को सम्पन्न कराने के लिये कलक्ट्रेट सभागार में शांति समिति की विशेष बैठक हुई


मऊ नाथभंजन -दशहरा, दुर्गापूजा और मोहर्रम के पर्व को सम्पन्न कराने के लिये कलक्ट्रेट सभागार में शांति समिति की विशेष बैठक हुई जिसमे पालिका के पूर्व चेयरमैन श्री अरशद जमाल की  मांग पर जिलाधिकारी महोदय और पुलिस अधीक्षक  ने सुवरो से छुटकारा दिलाने के लिये त्योहार के बाद बैठक बुलाने का वादा भी किया है और साथ ही मिस्टर जमाल की विधुत व्यवस्था को दुरुस्त कराने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी महोदय से चर्चा की। 


पुलिस अधीक्षक जी ने सोशल मीडिया का प्रयोग करने वाले युवाओं को सचेत किया है कि कोई भी पोस्ट करने से पहले उस पर होने वाले प्रभाव को ध्यान में रखे, अन्यथा एक गलती से जो मुकदमा कायम होगा उससे न पास्पोर्ट बन पाएगा न ही नोकरी मिलेगी। फेसबुक और व्हाट्सएप्प की कोई पोस्ट या कॉमेंट हम कंपनी से हासिल कर सकते है। आप फ़र्ज़ी ID भी प्रयोग कर रहे हो तब भी हम ढूड निकालेंगे।

अरशद जमाल, पूर्व चेयरमैन

फुटबाल खिलाड़ी सम्मानित-अरशद जमाल


फुटबाल खिलाड़ी सम्मानित
बच्चों को इन की मनचाही फील्ड में ही किया जाना चाहिये प्रोत्साहित-अरशद जमाल

मऊनाथ भंजन। डोमनपुरा गोल्वा स्थित ग्राउण्ड में फुटबाल का रोमांचक फाइनल मैच हलचल स्पोर्टिंग क्लब गोल्वा एवं रियल स्पोर्टिंग क्लब इमामगंज के दरमियान खेला गया। ये खेल दर्शकों के लिये कौतूहल का कारण बना रहा क्यों कि दोनों टीमों ने बहुत ही अच्छा एवं साफ-सुथरा प्रदर्शन किया। इस रोमांचक मुकाबले में हलचल स्पोर्टिंग क्लब गोल्वा से रियल स्पोर्टिंग क्लब इमामगंज ने 5-4 के मुकाबले अपनी जीत दर्ज करायी। चूँकि खेल बराबरी पर समाप्त हुआ इस लिये पेनाल्टी द्वारा अन्तिम फैसला लिया गया। इस मैच में इम्तेयाल अहमद मैन आफ द मैच रहे। मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद पूर्व पालिका अध्यक्ष अरशद जमाल के हाथों विजेता को पुरस्कृत किया गया।


इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुये नगर पालिका परिषद के पूर्व अध्यक्ष अरशद जमाल ने खिलाड़ियों से कहा कि स्पर्धायें जीवन को बेहतर तरीके से जीने के लिये रास्ता हमवार करने में मददगार होती हैं। उन्होंने कहा कि चाहे वह खेल का मैदान हो या जीवन का पटल हर क्षेत्र में जिज्ञासा एवं स्पर्धा के बिना कोई व्यक्ति सफल नहीं हो सकता। यही उचित समय है जब बच्चों को टेªंड करके इन्हें इनकी मनचाही फील्ड में आगे बढ़ाया जा सकता है।
इस अवसर पर शराफत अली, फैजुलहसन, जकी अहमद, सेराज किराना, कलीम अहमद, रियाज अहमद, जलालुद्दीन, मुहम्मद अजहर, शमीम अहमद, नूरुलहसन, इर्शाद अहमद आदि के इलावा बहुत से फुटबाल प्रेमी मौजूद रहे।

शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में रोटरी क्लब मऊ की जानिब से 5 वरिष्ठ शिक्षको को सम्मानित किया गया- Arshad Jamal Chairman


शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में रोटरी क्लब मऊ की जानिब से 5 वरिष्ठ शिक्षको को सम्मानित किया गया।

मऊनाथ भंजन - रोटरी क्लब मऊ द्वारा आज दिनांक 10 सितम्बर 2017 गिरहस्त प्लाजा के भव्य हॉल में माननीय जिलाधिकारी महोदय ऋषिरेन्द्र कुमार के हाथों 5 वरिष्ठ शिक्षको को सम्मानित किया गया। 


मऊ नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन श्री अरशद जमाल  ने अपने सम्बोधन के दौरान सभी वरिष्ठ शिक्षको को उनके कुशल शिक्षाशैली और लम्बे समय से पढ़ने-पढ़ाने के कार्य पर उनको बधाई दी। 


एक शाम तालीम के नाम में डीएम ने 25 मेधावियों को किया सम्मानित-अरशद जमाल


एक शाम तालीम के नाम में डीएम ने 25 मेधावियों को किया सम्मानित 
छीतनपुरा ईदगाह के सहन में हर वर्ष की भांति अबकी बार भी शिक्षा विदों का उमड़ा सैलाब
महिलाओं की शिक्षा और समाज में बेहतरी के लिये आगे आने का लिया गया संकल्प
 जिलाधिकारी बोले, व्यवसायिक युग में भी तकनीक से होनहार बन सकते हैं बड़े अफसर


मऊ। ताने बाने की बुनकर नगरी में स्थित छित्तनपुरा सहन में एक बार फिर मंगलवार की रात्रि माइनाॅरिटी स्टूडेंट्स फोरम मऊ द्वारा आयोजित ‘एक शाम तालीम के नाम’ कार्यक्रम में जिलाधिकारी ऋषिरेन्द्र कुमार ने यहां के 25 मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। इन्हें स्मृति चिन्ह और मेडल के अलावा आर्थिक सहायता धनराशि भी प्रदान किया गया।
यहां मुख्य अतिथि जिलाधिकारी ऋषिरेन्द्र कुमार ने कहा कि व्यवसायिक युग में भी छात्र यदि तकनीक का प्रयोग करें तो उन्हें अच्छे मुकाम हासिल करने से कोई रोक नहीं पायेगा। कई देश ऐसे हैं जहां शिक्षा अच्छी है, पर सम्भावनायें कम। ऐसे में यदि मन से पढ़ाई की जाए, तो निश्चित रूप से कामयाबी मिलेगी। श्री ऋरेन्द्र कुमार ने अपने जीवन पर प्रकाश डाला और बताया कि स्वयं मैट्रिक्स में द्वितीय स्थान प्राप्त कर पाया था लेकिन मेहनत की ही देन है कि आज आई0ए0एस बनकर आपके सामने मंच पर खड़ा हूँ। 



पूर्व सांसद राज्य सभा सालिम अंसारी ने कहा कि इस प्रोग्राम से इल्म के मैदान में संघर्ष करने वाले बच्चों का मनोबल बढ़ा है। हमें कहीं हताश नहीं होना चाहिये। हर परिवार या व्यक्ति इल्म से ही उन्नति करता है। हमारी संयुक्त सोच है कि इस जिले के बच्चे शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढें। मऊ के बच्चे आज दीनी तालीम के साथ उच्च शिक्षा की ओर भी अपना कदम बढ़ा चुके हैं।


माइनाॅरिटी स्टूडेंट्स फोरम के डायरेक्टर अरशद जमाल ने आये हुए अतिथियों एवं छात्रों का स्वागत करते हुये कहा कि कार्यक्रम पिछले वर्ष से प्रारम्भ हुआ। इसका उद्देश्य ही यही है कि छात्र-छात्राओं की शिक्षा में आने वाली कठिनाईयों को कैसे दूर किया जाये। श्री जमाल ने इसकी वजह बताते हुये कहा कि हमारे बच्चे रोजी रोटी की तलाश में विदेश प्लायन कर रहे हैं ताकि वह अपने माता-पिता और बहन भाइयों को दो वक्त की रोटी के साथ अच्छी शिक्षा दिला सकें। 


डा0 संजय सिंह ने कहा कि स्वस्थ्य मन से ही स्वस्थ्य दिमाग का संचालन सम्भव हो सकता है। बीमारी की हालत में व्यक्ति बेहतर की कल्पना नहीं कर सकता। इस लिये छात्र-छात्राओं को अपने स्वास्थ्य पर भी प्रति दिन आधे घण्टे का समय देना चाहिये।


शिक्षाविद ओवैस तरफदार ने कहा कि अभिभावक अपनी गाढ़ी कमाई से एक बड़ी रकम अपने बच्चों की शिक्षा पर खर्च करने पर आमादा होते हैं। ताकि उनके बच्चों को एक बेहतरीन मुकाम मिल सके।


   प्रबन्धक मुरलीधर यादव ने कहा कि मार्डन एजूकेश की बातें बोर्ड की परीक्षा में भी दिखनी चाहिये। 
दिल्ली से आये वरिष्ठ शिक्षाविद जमील अहमद ने कहा कि बच्चों में जुनून पैदा करने की आवश्यकता है न कि उनपर दबाव बनाने की। शिक्षा को लेकर अपने बच्चों पर ये बातें कैसे डालेंगे कि इतने सारे कार्याें को करने के लिये कहां से शुरूआत करेंगे। कहा कि अभिभावक अपने बच्चों को ग्रुप डिस्कशन का हिस्सा बनायें और उन्हें अपनी इच्छा अनुरूप लक्ष्य पाने का जज्बा पैदा करें। बी0एच0यू0 की छात्रा जेबा फिरदौस ने कहा कि महिलाओं को अदब के साथ शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि समाज में महिलाओं के प्रति सौतेला सलूक हो रहा है इसको लेकर हमें सतर्क रहने की जरुरत है क्योंकि हाइटेक युग में शिक्षा की कुंजी से ही हमारा उत्थान सम्भव है। उन्होंने महिलाओं के साथ दोहरे चरित्र आचरण प्रथा बन्द होनी चाहिये क्योंकि मौजूदा समय में महिलायें किसी से कमजोर नहीं है।


कार्यक्रम में जिलाधिकारी ऋषिरेन्द्र कुमार ने प्रथम स्थान पाने वाले लिटिल फ्लावर की मारिया हफीजुल्लाह, स्वप्निल बर्नवाल, सनबीम स्कूल से संगमित्रा चन्द्रा, फातिमा कान्वेंट से अभिनव मेहरोत्रा, कीर्तिमान पाण्डेय, तालीमुद्दीन इ0का0 से गौसिया रहमान, आलिया इ0का0 से सना फरहीन, डी0ए0वी0 से सबा फिरदौस को स्मृति चिन्ह, मेडल के अलावा आर्थिक सहायता धनराशि प्रदान किया। 



वहीं पूर्व राज्यसभा सांसद सालिम अंसारी द्वारा द्वितीय स्थान प्राप्त रक्शी शमीम लिटिल फ्लावर चिल्ड्रेन स्कूल, अदीबा शमीम, वैशनवी राय, आर्यन सिंह, सानिया जैन, अल्फिया तैयब, सबा बिल्कीस सेकन्ड टापर्स  और त्रितीय स्थान प्राप्त नवीन कुमार, अपूर्वा त्रिपाठी, मुस्कान खण्डेलवाल, हनीफा परवीन, श्रद्धा गुप्ता, आदिती दूबे, रफअत ज्या, अदीबा परवीन, अफिया परवीन आदि को भी पुरस्कृत किया गया।
अन्त में अरशद जमाल ने कार्यक्रम की सफलता के लिये सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। संचालन जकी अहमद एडवोकेट एवं अल्तमश ने किया। 


एक शाम तालीम के नाम में उमड़े छात्र-छात्राओं ने अपने अन्दर छिपी प्रतिभाओ को बयां किया। एक स्वर से सब ने कहा कि शिक्षा के प्रति समर्पण से ही मिलेगी उन्नति। यहां मंच से मानसी अग्रवाल ने कहा कि अगर हम शिक्षकों को याद कर रहे हैं तो शिक्षा के प्रति समर्पण ही है। गुरु एक तेज है जिसके सम्पर्क में आते ही शिष्य निखार के मार्ग पर चल पड़ता है।


रीतिका सिंह ने कहा कि व्यक्ति को सामाजिक बनाने का श्रेय अनुशासन को जाता है। अरुषि मिश्रा ने महिला सशक्तिकरण पर बल दिया और कहा कि महिला कौन है, महिला वर्तमान की जननी है। इन्हें मानसिक रूप से कमजोर समझा जाना गलत है, क्योंकि आज की महिलाएं देश की समृद्धि के लिये हर कार्य कर रही हैं। सादिया परवीन ने कहा कि तालीम और तरबियज दोनों एक सिक्के के दो पहलू हैं। अभिभावक पर परवरिश की ज्यादा जिम्मेदारी होती है। मासूम अली ने कहा कि मौजूदा समय में समाज में प्रचलित बुराइयों एवं गलत अवधारणाओं को समाप्त करने की जरूरत है। दिल्ली यूनिवर्सिटी से रिसर्च स्कालर शहला परवीन ने कहा कि पुत्र के साथ पुत्रियों की शिक्षा पर भी बराबर तवज्जो दें, ताकि सामाज में सही मान्यताओं को बल मिल सके।



प्रधानाचार्याें एवं प्रबन्धकों ने भी किया जागरुकता का आहवान विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्याें ने भी एक शाम तालीम के नाम कार्यक्रम में अभिभावकों एवं बच्चों को शिक्षा की जागरुकता के गुर को बताया। यहां मंच पर सनबीम स्कूल की प्रधानाचार्या पूनम तिवारी ने कहा कि मऊ का नाम पूरे विश्व में रोशन हो। इसके लिये अभिभावकों को भी जागरुक होने की जरुरत है। ज्ञान अधूरा होगा तो हम सही फैसला कैसे ले पायेंगे। उन्होंने कहा कि एक कौम को दूसरे से अलग करने की आवश्यकता नहीं है। बल्कि हर तब्के को मिलकर काम करने की जरूरत है। ग्रुप डिस्कशन का पक्ष रखते हुये कहा कि डिस्कशन में जो सोच निकल कर आती है, उससे शिक्षार्थी को असामान्य सूचनायें प्राप्त होती हैं।


मौजूदा समय में जब बच्चों को एक दूसरों से बात करना, अपनी सोच व्यक्त करना ही नहीं आयेगा तो उनके अन्दर विवास कैसे पैदा होगा। आज जमाना डिस्कस करने का है मात्र किताब पढ़ कर शिक्षा ग्रहण करने का नहीं। उनकी स्किल डेवेलोप कराना होगा। दारुल ओलूम ब्वायेज के प्रधानाचार्य शादिह जमाल ने कहा कि उच्च शिक्षा की प्राप्ति के लिये बाहर के विद्यालयों में प्रवेश पाने की चुनौती है। ऐसे में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने डिस्टेंस कोर्स लांच कर उस कमी को दूर कर दिया है। डी0ए0वी इ0 कालेज के प्रधानाचार्य देव भास्कर तिवारी ने कार्यक्रम के लिये पूर्व चेयरमैन अरशद जमाल को कोटिशः बधाई दी और कहा कि यहां संसाधनों के अभाव के बीच प्रयास करते हैं कि बच्चों को अच्छी शिक्षा दें ताकि अनुशासन बना रहे। माया सिंह प्रधानाचार्य अमृत पब्लिक स्कूल ने कहा कि लोगों को शिक्षा के प्रति जागरुक करने की जरुरत है। जामिया मिल्लिया के मुहम्मद फराज ने शिक्षा की गुण्वत्ता सुधार के बारे में बताते हुये कहा कि ज्ञान का मकसद शारीरिक एवं आध्यात्मिक दोनों में बेहतरी लाना है। दिल्ली विश्व विद्यालय से आये मुहम्मद शहज़ाद ने इण्टरनेट, सोशल मीडिया और स्टूडेन्ट्स विषय पर बोलते हुये कहा कि इतनी बड़ी दुनिया को इसने मुट्ठी में कर दिया है। सबसे बड़ी क्रान्ति आयी है इसने पूरी दुनिया को बदल कर रख दिया है।

‘एक शाम तालीम के नाम’ प्रोग्राम 5 सितम्बर को होगा आयोजित-अरशद जमाल


‘एक शाम तालीम के नाम’ प्रोग्राम 5 सितम्बर को होगा आयोजित
शिक्षक दिवस के अवसर पर सम्मानित किए जाएंगे मऊ के इण्टर के मेधावी छात्र एवं छात्रायें-अरशद जमाल

मऊनाथ भंजन। आगामी 5 सितम्बर को माइनाॅरिटी सटूडेंट्स फोरम मऊ द्वारा आयोजि होने वाले ‘एक शाम तालीम के नाम’ प्रोग्राम के बारे में जानकारी देते हुए फोरम के निदेशक व पूर्व पालिकाध्यक्ष अरशद जमाल ने बताया कि शिक्षक दिवस के अवसर पर शाम 5 बजे से छीतनपुरा नई ईदगाह के सहन में एक शाम तालीम के नाम प्रोग्राम का आयोजन किया जायेगा। इस प्रोग्राम में इण्टरमीडिएट परीक्षा 2017 में (सभी बोर्ड के समस्त स्ट्रीम से कुल 25 बच्चों) नगर में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र एवं छात्राओं को क्रमशः 10 हजार, 5 हजार व 3 हजार रुपये नकद राशि के अतिरिक्त स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया जायेगा। पिछले वर्ष से आरम्भ होने वाले एक शाम तालीम के नाम कार्यक्रम को इस उद्देश्य से आरम्भ किया गया है कि मऊ के छात्र एवं छात्राओं को शिक्षा ग्रहण करने में आने वाली दिक्कतों से उबार कर उन्हें शिक्षा प्राप्ति हेतु सहल वातावरण एवं उचित मार्गदर्शन के साथ साथ उन्हें उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिये प्रयोत्साहित किया जाये। श्री जमाल ने बताया कि इस प्रोग्राम में नगर में प्रथम स्थान प्राप्त स्टूडेंट को जिलाधिकारी मऊ श्री ऋषिरेन्द्र कुमार द्वितीय स्थान प्राप्त स्टूडेंट को पुलिस अधीक्षक, मऊ श्री अभिषेक यादव तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले स्टूडेंट को नागपुर के उपायुक्त (इन्कमटैक्स) श्री लेयाकत अली आफाकी के हाथों सम्मानित किया जायेगा।

इस सम्मान समारोह में बारहवीं कक्षा के सी.बी.एस.ई., आई.सी.एस.ई., एवं यूपी बोर्ड के छात्र एवं छात्राओं के लिए एक कार्यशाला भी आयोजित की जायेगी। इसी के साथ इस कार्यशाला में छात्र-छात्राओं के अतिरिक्त प्रधानाचार्याें और शिक्षाविदों के मध्य संवाद का भी कार्यक्रम होगा। संवाद के कार्यक्रम को मुख्य रूप से आन लाइन मैगजीन जोश न्यू डेलही के कन्टेंट एडीटर श्री जमील अहमद सम्बोधित करेंगे। 


उन्होंने जानकारी देते हुये बताया कि मऊ एवं मऊ के बाहर शिक्षारत् कई छात्र एवं छात्राओं द्वारा कई अति आवश्यक शीर्षकों पर भाषण भी प्रस्तुत किया जायेगा। इसी के साथ शिक्षा से जुड़े हुये कई शिक्षाविद, विद्वानों एवं सम्भ्रांत नागरिक भी इस प्रोग्राम को सम्बोधित करेंगे। ज्ञातब्य रहे कि गत वर्ष भी इस आयोजन में मऊ नगर के उन होनहारों को सम्मानित किया गया था जो शिक्षा के माध्यम से उच्च शिखर पर पहुंचने में सफल हुये हैं। पिछले वर्ष उन्हें ‘सिर-ए-मऊ’ के खिताब से भी सम्मानित किया जा चुका है। उक्त आयोजन में नगर एवं बाहर से आये हुये सम्भ्रांत लोगों ने बड़ी संख्या में अपनी दिल्चस्पी दर्ज करायी थी।

स्वास्थय जागरूकता कार्यक्रम-Arshad Jamal Chairman mau



शारदा नारायण हॉस्पिटल में आयोजित स्वास्थय जागरूकता कार्यक्रम-अरशद जमाल 

मऊ नाथ भंजन-  शारदा नारायण हॉस्पिटल में रोटरी क्लब मऊ द्वारा आयोजित स्वास्थय जागरूकता कार्यक्रम में  हमारे मऊ शहर में तेज़ी से फ़ैल रहे डेंगू और सोवाईन फ्लू के लक्षण पर डॉक्टर संजय सिंह जी ने विस्तार से और बड़े अच्छे ढंग से प्रकाश डाला और इससे बचने के उपाए भी बताये। मऊ नगर पालिका के भूतपूर्व चेयरमैन श्री अरशद जमाल ने इस सम्बन्ध में अपना विचार व्यक्त करते हुवे कहा की हमारे नगर में तेज़ी से फ़ैल रहे डेंगू और सोवाईन फ्लू के लक्षण दिखने शुरू हो गए हैं ये हम सब के लिए गहन फ़िक्र का मक़ाम है की हम सब मिलकर अवाम को जागरूक करने का प्रयास करें।  


"दैनिक जागरण की" 36 वीं वर्ष गांठ पर जागरण परिवार को हार्दिक सुभकामनाएँ दी-Arshad Jamal


 "दैनिक जागरण की" 36 वीं वर्ष गांठ पर जागरण परिवार को हार्दिक सुभकामनाएँ दीं 

मऊ नाथ भंजन- देश का सब से अधिक लोकप्रिय दैनिक अखबार "दैनिक जागरण की" 36 वीं वर्ष गांठ पर चटपटी रेस्टोरेंट के हाल में एक कायक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में जिलाधिकरी महोदय के अतिरिक्त भी कई महत्वपूर्ण हस्तियों ने भाग लिया। नगर पालिका मऊ के भूतपूर्व चेयरमैन श्री अरशद  जमाल  ने अपने मन्तब्य में कहा की अखबार में शिक्षा, छात्रवृत्ती, और नोकरियों के बारे में जानकारी के लिये एक पेज अलग से देने की बात कही। श्री जमाल ने 36 वीं वर्ष गांठ पर समस्त दैनिक जागरण परिवार को हार्दिक सुभकामनाएँ दी। 


एक शाम तालीम के नाम 2017- Arshad Jamal Chairman Mau


एक शाम तालीम के नाम
       मऊनाथ  भंजन- मऊ वेलफेयर ट्रस्ट द्वारा 5 सितंबर 2017 को शाम 5:00 बजे से "एक शाम तालीम के नाम" का आयोजन होगा जिसमें यूपी बोर्ड, आईएससी बोर्ड व सीबीएसई बोर्ड बारहवीं की परीक्षा 2016-17 में नगर में विज्ञान, कला व वाणिज्य संकाय में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को क्रमश: 10 हज़ार, 5 हज़ार व 3 हज़ार नगद राशि व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया जायेगा। साथ ही इस साल बारहवीं में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं के लिये अलग-अलग विषयों पर विशेषज्ञों द्वारा एजुकेशन के क्षेत्र में छात्र-छात्राओं को, समस्त अभिभावकों को उचित्त मार्ग दरशन  दिया जायेगा। इस भव्य आयोजन में  छात्र-छात्रायें भी अपनी बात रख सकें गे, इसमें छात्र-छात्राओं के अतिरिक्त, स्कूलों व कॉलेजों के प्रबंधक, प्रधानाचार्य, अध्यापक के साथ नगर के हर वर्ग के लोग आमंत्रित हैं। आप सभी गणमान्य नगरवासियों से अपील है कि वो इस शाम को अपनी उपस्थिति से एक कामयाब शाम बनायें व बच्चों की हौसला अफज़ाई करें।






नोट: जिन छात्र-छात्राओं को उनके स्कूलों से हमारे प्रोग्राम का "Student ID Card" नहीं मिल सका है, वो भी बिना झिझक आयें और अगर चाहें तो छीतनपुरा ईदगाह के पास "मसकन" से आईडी कार्ड प्राप्त कर लें।



(अरशद जमाल-पूर्व नगर पालिकाध्यक्ष, मऊ)
  निदेशक, माईनॉरिटी स्टूडेंट्स फोरम मऊ