अदबी मुशायरा एक शाम अचानक के नाम का खुबसूरत मंज़र

लोगों ने अदबी मुशायरे को पसंद किया आने वाले दिनों में हम इससे भी अच्छा मुशायरा कराने का प्रयत्न करेंगे -अरशद जमाल

मा० अखिलेश यादव ने लखनऊ में कराई अफ्तार पार्टी

मा० अखिलेश यादव ने लखनऊ में अफ्तार पार्टी दी जिसमे २०००० से अधिक लोगों ने शिरकत की

मौलाना आज़ाद मेमोरियल एकेडमी

मौलाना आज़ाद मेमोरियल एकेडमी की वेबसाइट के शुबारंभ पर मा०अखिलेश जी के इस उठाये गये कदम की सराहना करते हुवे अरशद जमाल

एक शाम अचानक के नाम

अदबी मुशायरा एक शाम अचानक के नाम -मुख्यअतिथि रहे शकील आज़मी जिनकी शान में बस यही किह देना काफी होगा की परों को खोल ज़माना उड़ान देखता है .. तू क्या ज़मीन पे बैठ कर आसमान देखता है ....!!

माइनॉरिटी स्टूडेंट फोरम मऊ

माइनॉरिटी स्टूडेंट फोरम मऊ के डायरेक्टर अरशद जमाल ने मऊ के होनहार बच्चों को सम्मानित किया

‘‘मस्कन’’ पर बुल्डरोजर चलवाने से नहीं बनेगा बीजेपी का चेयरमैन-अरशद जमाल

बीजेपी सत्ता के नशे में चूर हो कर बदले की भावना से कर रही है कार्यवाही
‘‘मस्कन’’ पर बुल्डरोजर चलवाने से नहीं बनेगा बीजेपी का चेयरमैन-अरशद जमाल
.
मऊनाथ भंजन। नियत प्राधिकारी विनियमित क्षेत्र, मऊ (नगर मजिस्ट्रेट) श्री हंसराज यादव द्वारा दिये गये निर्णय पर पूर्व पालिका अध्यक्ष अरशद जमाल ने प्रेस नोट जारी कर के अपनी प्रतिक्रिया दी हैं। श्री जमाल ने कहा कि मेरे आवास ‘‘मस्कान’’ के अगले हिस्से के ध्वस्तिकरण के लिये नगर मजिस्ट्रेट द्वारा आदेश दिया जाना सत्ता के प्रभाव का प्रतीक है। इस प्रकरण में लिप्त अधिकारियों के विरूद्ध जांच की जानी चाहिये। नियत प्राधिकारी ने तथ्यों को नजर अन्दाज करते हुये सरकार ेऔर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के दबाव में इसलिये एैन चुनाव अधिसूचना के दिन यह निर्णय दिया है ताकि मेरे चुनाव को प्रभावित किया जा सके, मगर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को यह बात समझ लेनी चाहियें कि मेरे आवास पर बुल्डोजर चलाने से उनका चेयरमैन नहीं जीतेगा।


    श्री जमाल ने कहा कि इस पुरे निर्णय में सत्यता को नजर अन्दाज कर के दुर्भावना पूर्ण आदेश दिया गया है। मेरे द्वारा 72-59 कड़ी व 7-5 कड़ी अर्थात कुल 80-09 कड़ी जमीन रजिस्टर्ड बैनामें द्वारा क्रय की गयी है। मेरा पुरा आवास मात्र 57 कड़ी में निर्मित है बाकी 23 कड़ी भूमि में सहन, सेट बैक और लेन वाईडेनिंग के रूप में है। नियत प्राधिकारी/नगर मजिस्ट्रेट ने 7.5 कड़ी बैनामें की भूमि का अपने निर्णय में कोई जिक्र नहीं किया है , पूर्व नगर मजिस्ट्रेट श्री बसंता व उप जिलाधिकारी सदर व क्षेत्राधिकारी नगर की उपस्थिति में तहसीलदार सदर नायब तहसीलदार एवं लेखपालों की टीम द्वारा स्थल का सीमांकन किया गया सीमांकन उपरान्त पाया कि अरशद जमाल द्वारा अपनी भूमि पर मकान निर्माण कराया गया है। रास्ता पार्क व ईदगाह पर कोई अतिक्रमण नहीं किया  गया है। उक्त रिपोर्ट मा0 जिलाधिकारी महोदय को प्रेषित की गयी जिस पर मा0 तत्कालीन जिलाधिकारी श्री वैभव श्रीवास्तव द्वारा अपने निर्णय दिनांक 23-07-2016 में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि मौके के अनुसार स्थल पर कोई अतिक्रमण होना नहीं पाया जाता है। श्री जमाल ने कहा कि सारे अभिलेख बहस के पूर्व ही पत्रावली में दाखिल हैं, इससे स्पष्ट है कि प्रश्नगत निर्णय साजिश एवं दबाव में किया गया है। सत्ता के दबाव में दिये गये निर्णय से समाजवादी पार्टी में काफी आक्रोश है। श्री जमाल ने कहा कि न रोज बीजेपी की सत्ता रहेगी और न कमजोर अधिकारियों का अधिकार।

                               

निकाय चुनाव 2017 की अधिसूचना जारी- अरशद जमाल


निकाय चुनाव की अधिसूचना जारी- अरशद जमाल 
मऊनाथ भंजन-निकाय चुनाव की अधिसूचना दिनांक 27.10.2017 प्रातः 6 बजे जारी कर दी गयी है जिसमे 16 नगर निगम,198 नगर पालिका का चुनाव व 438 नगर पंचायतों में चुनाव संपन्न किया जायेगा। ज्ञातव्य हों कि इस बार नगर निगम के चुनाव ईवीएम द्वारा सम्पन कराया जायेगा। नगर पालिका, नगर पंचायत के चुनाव बैलेट से तीन चरणों में नगर निकाय चुनाव होंगे। पहले चरण में 24 जनपदों में चुनाव होगा 22 नवम्बर को पहले चरण का चुनाव होगा तथा दूसरे चरण का चुनाव 26 नवम्बर को 25 जनपदों में चुनाव होगा संपन्न कराया जायेगा। तीसरे चरण का चुनाव 29 नवम्बर को 26 जनपद में चुनाव होगा। वोटिंग प्रातः 7.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक जाएगी। स्टेट इलेक्शन कमिश्नर श्री अग्रवाल ने  कहा कि  1 दिसम्बर को काउंटिंग की जाएगी।


प्रथम चरण का चुनाव 22 नवम्बर को 
22 नवम्बर – शामली, मेरठ, हापुड़
22 नवम्बर – बिजनौर, बदायूं, हाथरस
22 नवम्बर – कासगंज, आगरा, कानपुर 
22 नवम्बर – जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट
22 नवम्बर – कौशाम्बी, प्रतापगढ़, उन्नाव
22 नवम्बर – हरदोई, अमेठी, फैजाबाद
22 नवम्बर – गोंडा, बस्ती, गोरखपुर 
22 नवम्बर – आजमगढ़, गाजीपुर, सोनभद्र


दूसरे चरण का चुनाव 26 नवम्बर को 
26 नवम्बर को लखनऊ में होगी वोटिंग 
26 नवम्बर – मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद 
26 नवम्बर – गौतमबुद्धनगर, अमरोहा
26 नवम्बर – रामपुर, पीलीभीत
26 नवम्बर – शाहजहांपुर, अलीगढ़
26 नवम्बर – मथुरा, मैनपुरी
26 नवम्बर – फर्रुखाबाद, इटावा
26 नवम्बर – ललितपुर, बांदा 
26 नवम्बर – इलाहाबाद, लखनऊ
26 नवम्बर – सुल्तानपुर, अम्बेडकरनगर
26 नवम्बर – बहराइच, श्रावस्ती
26 नवम्बर – संतकबीरनगर, देवरिया 
26 नवम्बर – बलिया, वाराणसी, भदोही

तीसरे चरण का चुनाव 29 नवम्बर को 
29 नवम्बर – सहारनपुर, बागपत, बुलंदशहर 
29 नवम्बर – मुरादाबाद, संभल, बरेली
29 नवम्बर – एटा, फिरोजाबाद
29 नवम्बर – कन्नौज, औरैया 
29 नवम्बर – कानपुर देहात 
29 नवम्बर – झांसी, महोबा 
29 नवम्बर – फतेहपुर, रायबरेली 
29 नवम्बर – सीतापुर, लखीमपुर खीरी 
29 नवम्बर – बाराबंकी, बलरामपुर 
29 नवम्बर – सिद्धार्थनगर, महराजगंज
29 नवम्बर – कुशीनगर, मऊ
29 नवम्बर – चंदौली, जौनपुर, मिर्जापुर

اقلیتوں کے حقوق کے تحفظ اور رواداری سے ہی شہر کی ترقی ممکن ہے۔ ارشدجمال


اقلیتوں کے حقوق کے تحفظ اور رواداری سے ہی شہر کی ترقی ممکن ہے۔ ارشدجمال
خیرسگالی، باہمی رواداری اور ایثار و ہمدردی ہمارے اسلاف کی روایت رہی ہے جس کی حفاظت کرنا ہماری اہم ذمہ داری ہے۔ باہمی رواداری اور خیرسگالی کے بغیر نہ ہمیں سکون میسر ہوسکتا ہے نہ ہی ہم ترقی کرسکتے ہیں۔ ان خیالات کا اظہار مؤنگرپالیکا پریشد کے سابق چیئرمین ارشدجمال نے میڈیا کے ساتھ غیر رسمی گفتگو کے دوران کیا۔ انھوں نے کہا کہ ہمارے معاشرہ میں سکون و ترقی اسی وقت ممکن ہے جب ہرکسی کے حقوق وجذبات کا خیال رکھا جائے۔ خاص طور سے اقلیتوں کے حقوق، جذبات، قرباینیوں اور معاشرہ کی تعمیر میں ان کی حصہ داری کا خیال رکھا جائے۔ اکثریتی فرقہ کی ذمہ داری ہے کہ وہ اقلیتوں کے حقوق کے تحفظ اور جذبات کا خیال رکھیں۔ انھوں نے واضح کیا کہ اقلیت سے مراد صرف مسلم طبقہ نہیں ہے بلکہ کسی مقام پر جن لوگوں کی تعداد کم ہے وہاں وہ اقلیت ہیں۔مثلاً ہمارے شہر میں سب سے بڑی تعداد انصاریوں کی ہے اور شہر کا کاروباری نظام بھی تقریباً مکمل طور پرہم انصاریوں کے ہی ہاتھ میں ہے اس لئے شہر میں رواداری اور خیر سگالی قائم رکھنا ہماری ذمہ داری ہے۔ انصاری طبقہ کے علاوہ شہر میں قریشی، سبزی فروش، خان، صدیقی، عراقی، چوڑی فروش، حجام، ادریسی، منصوری، دھوبی، کندی گر وغیرہ بہت سی برادریاں ہیں جن کی تعداد انصاری فرقہ سے کم ہے، یعنی وہ اقلیت میں ہیں۔ اسی طرح کچھ محلے ایسے بھی ہیں جہاں دوسری برادری کے مقابلہ انصاری کی تعداد کم ہے تو وہاں انصاری اقلیت میں ہیں۔ شہر کی مشترکہ تہذیب کے علاوہ ہر برادری کی اپنی علیٰحدہ کچھ رسمیں اور تہذیب ہیں جن کو اختیار کرنے کے لئے وہ آزاد ہیں۔ دوسری طرف زندگی کے نظام میں سبھی ایک دوسرے سے منسلک ہیں اور آپس میں لازم و ملزوم ہیں اور اس طرح شہر کی ترقی میں سب کی اپنے اپنے انداز میں حصہ داری ہے۔ سابق چیئرمین نے اپنے کہا کہ کوئی بھی نہ تو اس شہر کے لئے بوجھ ہے نہ ہی غیر ضروری ہے ۔ ہمارے لئے ایک دوسرے کی اہمیت کو سمجھ کر سب کا احترام کرنا ضروری ہے۔ چونکہ مجموعی طور پر یہاں انصاری اکثریت میں ہیں اس لئے ان کی ذمہ داری بھی زیادہ ہے۔ شہر میں کسی بھی فرقہ یا برادری کو کسی طرح کی کوئی تکلیف نہ ہو نہ ہی کوئی احساس کمتری کا شکار ہو۔ ہمیں یہ بات ذہن نشین کرلینی چاہئے کہ شہر کا ہرفرد شہر کے لئے ضروری ہے۔ 

ارشد جمال نے کہا کہ ہمارا شہر کاروباری شہر ہے اور ضلع بننے کے بعد ایک بڑی تعداد کاروبار یا روزگار کی غرض سے آس پاس کے دوسرے شہروں، گاؤں اور قصبوں سے آکر یہاں آباد ہوگئی ہے۔ یہ لوگ اس شہر کے لئے قطعی بوجھ نہیں ہیں بلکہ یا تو ہمارے مہمان ہیں یا پھر اس شہر کی تعمیروترقی کے لئے کافی اہم ہیں۔ ہم انھیں کسی بھی طور نہ تو نظرانداز کرسکتے ہیں نہ ہی کمتر سمجھ سکتے ہیں۔ باہر سے آکر آباد ہونے والوں کے لئے ہمارا دل بڑاہونا چاہئے اور ہمیں بڑھکر انھیں گلے لگانا چاہئے۔ جو لوگ دوسرے مقامات سے آکر یہاں مستقل طور پر آباد ہوچکے ہیں اب وہ باہری نہیں رہے بلکہ ہمارے شہر کا ایک اہم حصہ بن چکے ہیں جو شہر کی تعمیر و ترقی کے لئے ضروری ہیں۔ انھیں باہری سمجھنا یا کم اہمیت دینا تنگ نظری اور بخل ہوگا جو ہماری روایت اور اسلامی تہذیب کے منافی ہے۔ ارشد جمال نے کہا کہ مؤ شہر کی تاریخ پر نظر ڈالیں تو ہم پائیں گے کہ تعمیرو ترقی میں انصاریوں کے ساتھ غیرانصاری برادری اور باہر سے آئے ہوئے لوگوں کا بھی اہم رول رہا ہے۔ بعض اوقات باہر سے آئے ہوئے افراد نے وہ کارنامے بھی کئے جو یہاں کے مقامی نہ کرسکے تھے اور غیر انصاریوں نے بھی ایسے رول ادا کئے جو انصاریوں نے نہیں کئے ۔ 
یہی مسلّم حقیقت ہے کہ شہر کا ہر فرد اس شہر اور معاشرہ کے لئے اہم ہے ، وہی معاشرہ ترقی یافتہ ہوسکتا ہے جہاں اکثریتی فرقہ فراخ دل ہواور اقلیتوں کے حقوق و جذبات کا مکمل لحاظ رکھتا ہو۔ اقلیتوں اور دیگر کمزور طبقہ کو خاطر میں لائے بغیر صحت مند معاشرہ کا تصور بھی نہیں کیاجاسکتا۔ ارشد جمال نے اکثریتی فرقہ سے اپیل کی ہے کہ دل کو بڑا رکھیں اور معاشرہ کی خوشحالی کے لئے سب کو ساتھ لیکر چلیں۔

ارشدجمال، سابق چیئرمین، نگرپالیکا پریشد مؤ

रोज़नामा ''खुशबु'' के एडिटर एंड चीफ अबू हुरैरा युसफ़ी द्वारा अरशद जमाल साहब का एक ख़ास इंटरविव लिया गया

रोज़नामा ''खुशबु'' के एडिटर एंड चीफ अबू हुरैरा युसफ़ी द्वारा नगर पालिका के भूतपूर्व चेयरमैन अरशद जमाल साहब का एक ख़ास इंटरविव लिया गया.



Nagar Palika Election 2017 News- Arshad Ex Jamal Chairman Mau


.

मऊ नाथ भंजन - नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन अरशद जमाल साहब से आगामी नगर निकाय चुनाव पर बात हुवी, उन्होंने कहा की मेरे बहुत से मित्र इस बात से परेशान हैं कि चुनाव करीब है और मेरी चुनावी गतिविथि नही दिखती है। चुनावी गतिविधि खूब चल रही है, बस तरीका फरक है। जो भी कम है वो ख़ामुशी और समझदारी से होरहा है।
दोस्तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि मेरी चुनावी तैयारी मोकम्मल है। बस इंतेज़ार है कि पार्टी प्रत्याशी का ऐलान करदे। ऐसा नही के सिमबल में कोई शंका हो। मगर वसूली बात है कि जबतक पार्टी अधिकृत न करदे तबतक मेरा दावा करना दूसरे लोगो जैसी हिमाकत करना है। चुनाव तक का मोकम्मल प्लान तैयार है।

वैसे मैंने 5 साल लगातार जनता की सेवा की है। मऊ के लोग हालात को देखते हुए इंशा अल्लाह बेहतर फैसला लेंगे।




बीमारियों के प्रकोप से बचाव हेतु समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमण्डल सी0एम0ओ0 से मिला, सौंपा ज्ञापन- Arshad Jamal


समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमण्डल सी0एम0ओ0 से मिला, सौंपा ज्ञापन
बीमारियों के प्रकोप से बचाव हेतु स्वास्थ्य विभाग समुचित करे उपाय 

मऊनाथ भंजन। आज पूर्व प्रत्याशी अल्ताफ अंसारी के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 एस0सी0 सिंह से मिलकर मांग पत्र सौंपा। अल्ताफ अंसारी द्वारा मऊ नगर में फैल रही बीमारियों एवं उनसे हो रही मौतों को रोकने हेतु तत्काल बृहद कदम उठाने के लिये मांग की गयी।
 

अपनी मांग में उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से डाक्टरों की एक विशेष टीम बनाकर पीड़ितों के इलाज के लिये 24 घण्टे तत्पर रहने को भी कहा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी मऊ ने प्रतिनिधिमण्डल को आशवस्त करते हुये कहा कि आप द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार तत्काल सभी प्रभावित इलाकों में डाक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की टीम ड्यूटी पर लगा दी जायेगी। उन्होंने प्रतिनिधिमण्डल को बताया कि इस सम्बन्ध में पहले से भी प्रभावित स्थानों पर हमारी टीम काम कर रही है। अल्ताफ अंसारी ने बताया कि इलाज में कोताही के चलते डेंगू, टाईफाइड या अन्य ज्वर से मौत होने पर समाजवादी पार्टी आन्दोलन करेगी। अल्ताफ अंसारी द्वारा बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों की हुयी आकस्मिक मौत पर गहरा दुःख व्यक्त किया गया है। इसी के साथ श्री अंसारी ने प्रदेश सरकार से उक्त बीमारियों से हुयी आकस्मिक मौत पर मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रूपये मुआवजे के रूप में देने की मांग की।


प्रतिनिधिमण्डल में मुख्य रूप से जहीर सेराज-नगर अध्यक्ष, योगेश तिवारी-पूर्व प्रदेश महासचिव लोहिया वाहिनी, इर्फान दानिश-नगर महासचिव, मुख्तार हुसैन-पूर्व नगर अध्यक्ष, शमीम अहमद-पूर्व सभासद, इकबाल अहमद-पूर्व सभासद, फैयाज अहमद-पूर्व सभासद, जावेद अहमद-पूर्व सभासद, मोलवी अशफाक-पूर्व सभासद, अनीस हलचल, एख्लाक अहमद, मुहम्मद इब्राहीम, फरीद अहमद, वदूद अहमद, शकील अहमद, अफजाल अहमद (अलंकार), अबरार अहमद, जमाल अहमद, फहद, अमजद, मुश्ताक अहमद, लेयाकत अली, अनवार अहमद, मन्ने, आदि शामिल थे।